Monday, 25 September 2017

GOOGLE के ‘Tez’ से ऐसे पा सकते हैं 9,000 रुपये

दोस्तों नमस्कार ,

जैसा की आप सब जानते है कि ये समय डिजिटल पेमेंट का है और बहुत सारे वालेट्स पहले से ही मौजूद है जैसे PayTM, FreeCharge, Mobikwik, AmazonPay  etc इत्यादि। जहाँ आपको पहले वॉलेट में पैसा जमा या भेजना होता है उसके बाद आप केवल एक क्लिक से कोई भी पेमेंट कर सकते है। 

परन्तु गूगल ने एक कदम आगे सोचते हुए NCPI ( National Payments Corporation of India) द्वारा लॉन्च UPI System (Unified Payment Interface System) का उपयोग करते हुए अपने ग्राहकों के लिए तेज़ (TEZ ) को लॉन्च किया। जिसका फायदा ये है की अब आपको किसी वॉलेट में पैसा भेजने की जरुरत नहीं है आप सीधे मिनटों में कही भी किसी भी दोस्त को पैसा भेज सकते है वो भी बिना अपने बैंक गए या उसका  नेटबैंकिंग प्रोयग किये। सिर्फ अपने फ़ोन नंबर का उपयोग करके, है ना कमाल दोस्तों। वैसे भारत में BHIM नाम की UPI आधारित एप्प पहले से ही मौजूद है जो सीधे तौर पर NCPI द्वारा कंट्रोल की जाती है। इसके अलावा एक और एप्प है PhonePe जिसे फ्लिपकार्ट कंट्रोल करती है।

क्या है NCPI का UPI सिस्टम 

NCPI का UPI एक ऐसा सिस्टम है जो कंज्यूमर्श को एक से दूसरे बैंक के बीच पैसा भेजने में मदद करता है वह भी सिर्फ अपने फ़ोन नंबर का उपयोग करते हुए इसके लिए किसी भी ग्राहक को बैंक अकाउंट नंबर, IFSC code , जैसी डिटेल्स की जरुरत नहीं पड़ेगी। यहाँ आपका फ़ोन नंबर ही एक Virtual Payment Address जैसे काम करेगा। मगर यहाँ गौर करने या जानने वाली बात यह की जो फ़ोन नंबर आपके अकाउंट से जुड़ा हुआ है उसी का प्रयोग कर सकते है। 

गूगल तेज़ ( Google Tez ) से कैसे कमाए पैसे 

सबसे पहले आपको दी गयी image या link  पर क्लिक  करके गूगल तेज़ एप्प डाउन लोड करनी होगी  - https://g.co/tez/Bh7m3



इसके बाद आप + ADD BANK ACCOUNT  पर क्लिक करे और जितने भी आपके बैंक अकाउंट आपके इस मोबाइल नंबर से जुड़े होंगे सभी अपने आप आपको यहाँ दिखाई दे जाएंगे 

गूगल तेज़ एप्प में यूज़र्स अपने कॉन्टेक्ट का भी एक्सेस दे सकते है। जो पेमेंट करने और लेने में आपकी मदद करेगा। 

गूगल तेज़ रिवार्ड्स और ऑफर्स ( Google Tez rewards and Offers )





गूगल तेज़ आपको Rs. 51 का cash फ्री दे रहा है जैसे ही आप अपने किसी दोस्त को इन्वाइट भेजते है और वो एप्प डाउनलोड करके ज्वाइन कर लेता है तो आपको और आपके दोस्त दोनों को गूगल तेज़ की तरफ से Rs 51 मिलते है ऐसे ही आप जितने भी दोस्तों को इन्वाइट करेंगे आपके पैसे बढ़ते जायेंगे। याद याद रहे ये ऑफर आप 31 मार्च 2018 तक ही उपयोग कर सकते है और अधिकतम राशि 9000 रूपए ही ले सकते है। 

एक लाख रूपए जितने का मौका 

अगर आप गूगल तेज़ एप्प डाउनलोड करने के एक सप्ताह के अंदर 50 रूपए या उससे ज्यादा की कोई भी पेमेंट करते है तो आपको एक स्क्रैच कार्ड दिया जाएगा जिसमे लकी ड्रा के तहत आप 1 लाख रूपए जीत सकते है. 

Labels: ,

Sunday, 24 September 2017

बिना निवेश किये घर बैठे पैसे कैसे कमाए। जानने के लिए इसे देखे।



दोस्तों  नमस्कार,

आज में आपको कुछ ऐसे तरीके बताने जा रहा हूँ जिनको अपना कर आप एक अच्छी इनकम अपने खाली समय में कर सकते है। ये इनकम आपकी दस हजार से ज्यादा हो सकती है

मुझे पता है आप में से बहुत से मेरे दोस्त ये सोच रहे होंगे की मैं यहाँ आपको एक और MLM कंपनी की बात कर रहा हूँ तो ऐसा कुछ नहीं है। ये जो तरीके जो मैं बता रहा हूँ उसके द्वारा आप अपने कौशल और विशेषज्ञता का सही इस्तमाल करके पूरी जिंदगी पैसा कमा सकते है।

पैसे कमाने के तरीके : जिनको इस्तेमाल करके आप जल्दी ही एक अच्छी इनकम कमा सकते है

1.  पीटीसी साइट्स से कमाए ( Earn With PTC Sites )


अगर आप ऑनलाइन पैसा कमाने की सोच रहे है तो पीटीसी वेबसाइट के अलावा कोई और दूसरा विकल्प हो ही नहीं सकता। पीटीसी वेबसाइट से आप 12000 ( बारह हज़ार ) से ज्यादा हर महीने कमा सकते है। यहाँ आपको कुछ विज्ञापन मिलेंगे जिनको आपको पढ़ना और देखना है ये विज्ञापन आपको 10 से 30 सेकंड्स तक देखने होते है।

जब आप पीटीसी वेबसाइट गूगल करेंगे तो बहुत से वेबसाइट आपके सामने आ आएँगी जिसमे से बहुत से वेबसाइट गुप्त या धोखा (Fake or Fraud ) होती है जिनके ऊपर आपको काम करने के बाद भी कुछ नहीं मिलता। हो सकता उनमे से कुछ वेबसाइट आपसे प्लान लेने को भी कहे। इसलिए जब भी आप इस तरह का काम खोजे तो पहले उस वेबसाइट के बारे में पूरी जानकारी एकत्रित जरूर कर ले।

कुछ वेबसाइट जहाँ से आप विज्ञापन देख के पैसे कमा सकते है (List of best PTC websites ) -  Neobux, Clixsense, RebelPrice, BuxP, Paidverts

2. कमाए GPT वेबसाइट के साथ (Earn with GPT Sites)


और ज्यादा पैसा कमाने के लिए आप GPT वेबसाइट को भी ज्वाइन कर सकते है। GPT वेबसाइट पर आपको कुछ सर्वे , वीडियो विज्ञापन, प्ले गेम्स, और बहुत साड़ी एक्टिविटीज करनी पड़ सकती है।

मैं आपको ऐसी 3 वेबसाइट के नाम बता रहा हूँ जो आपको टाइम पर पेमेंट करती है ये पैसा आप paypal, cheque या बैंक में ले सकते है। - InboxDollars, Cashcrate, Swagbux, Clixsense TreasureTrooper

3. कैप्चा सॉल्वर बने ( Become a captcha Solver )


अगर आप कुछ ज्यादा समय निकाल सकते है तो आप Captcha Solve करके कुछ और पैसे बना सकते है।
ये तरीका पैसे कमाने का सबसे आसान तरीका है। Captcha Solve में  आपको कुछ इमेज और कुछ शब्द लिखने होते है। यहाँ आपको 100-150 रूपए मिलते है हर एक 1000 कॅप्टचा सॉल्व करने पर।

कुछ कॅप्चा वेबसाइट के नाम जहाँ से आप शुरू कर सकते है -Kolotibablo, MegaTypers, CaptchaTypers, ProTypers, Captcha2Cash, 2Captcha, Qlinkgroup, VirtualBee, FastTypers, PixProfit

4. सर्वे से पैसा कमाए ( Earn Money from Survey )


यहाँ आपको कुछ छोटे छोटे सर्वे मिलते है जिनको आप 5 से 30 मिनट का सयम में पूरा करना होता है। ये सुर्वे कुछ भी हो सकते है जैसे किसी प्रोडक्ट के बारे में आपकी राय, आपका अनुभव। यहाँ आपको कुछ लिखना नहीं होता आपको पहले से ही कुछ प्रशन और चॉइस मिलती है उन्हें में से कोई सेलेक्ट करना होता है।

यहाँ आप 70 रूपए से 1500 रूपए हरेक सर्वे पर आप कमा सकते है। ये सर्वे की लम्बाई, आपकी प्रोफाइल, या आप किस देश के निवासी है उस पर भी निर्भर करता है।

कुछ सर्वे वेबसाइट जहाँ से ये काम शुरू कर सकते है - Global Test Market, SwagBucks, Star Panel, iPanelOnline India, Toluna, Panel Place, India Speaks, Brand Institute, Permission Research, Planet Pulse, SurveySavvy, Spider Metrix, ValuedOpinions India, The Panel Station, YourSay, NPDOR, The Harris Poll Online, Socratic Forum

5. सहबद्ध विपणन के साथ अर्जित करें (Earn with Affiliate Marketing)


अगर आप अपने काम के प्रति गंभीर है तो ये तरीका आपको ढेरो पैसे कमा से दे सकता है। Affiliate Marketing में बहुत स्कोप है क्योंकि आपको पता ही आज का टाइम ऑनलाइन शॉपिंग और डिजिटल का समय है।

आपको हज़ारो ईकॉमर्स वेबसाइट मिल जाएंगीं जहाँ से आप पैसे कमा सकते जैसे Flipkart , Amazon , ebay , clickbank , CJ , Shopclues, Snapdeal etc यहाँ से आप 4 % से 25 % तक कमा सकते है।



Labels: ,

Friday, 22 September 2017

कौन है रोहिंग्या मुसलमान ? क्या है पूरा मामला ?




रोहिंग्या लोगो के पास किसी भी देश की नागरिकता नहीं है। वैसे रहते वो म्यांमार में है लेकिन म्यांमार उन्हें सिर्फ गैरकानूनी बांग्लादेशी प्रवासी ही मानता है इनकी संख्या लगभग 10 लाख के आसपास है। रोहिंग्या मुसलमानो का आरोप है कि म्यांमार बहुसंख्य बौद्ध और सुरक्षा बल हमेशा परेशान और प्रताड़ित करते है। रोहिंग्या मुसलमानो के पास कोई अधिकार नहीं है सयुंक्त राष्ट्र रोहिंग्या मुसलमानो को सबसे प्रताड़ित जातीय समहू मानता है।

ये लोग ना तो अपनी मर्जी से एक स्थान से दूसरे स्थान पर आ जा सकते है और ना ही काम कर सकते है। उन्हें कभी भी देश छोड़ने को कहा जा सकता है म्यांमार में इन लोगो के लिए कोई कानून नहीं है जहाँ ये अपनी बात रख सके। या ये कहे म्यांमार में इन लोगो की कोई सुनवाई नहीं है।

ये लोग दशकों से रखाइन प्रांत में रह रहे है लेकिन वहां के बौद्ध लोग इन्हे बंगाली कह कर दुत्कारते है। वैसे ये लोग जो भाषा या बोली बोलते है वो बांग्लादेश के चटगॉव में बोली जाती है। रोहिंग्या लोग सुन्नी मुसलमान है। बांग्लादेश के दक्ष्णि हिस्से में लगभग 3 लाख लोग रहते है। इनमे से ज्यादातर ऐसे लोग है जो म्यांमार से भाग कर यहाँ आये है। बांग्लादेश भी सभी रोहिंग्या मुसलमानो को शरणार्थी के तौर पर मान्यता नहीं देता।

बांग्लादेश के अलावा ये लोग भारत, थाईलैंड, मलेशिया, और चीन जैसे देशो का रुख कर रहे है।

सुरक्षा के लिए खतरा - रोहिंग्या मुसलमान ?

म्यांमार में हुए हालिया हमलो में रोहिंग्या मुसलमानो के शामिल होने के प्रमाण मिले है। इन लोगो के खिलाफ हुई करवाई को म्यांमार के सुरक्षा बल सही मानते है और कहते है कि इस तरह के हमले रोकने के लिए इस करवाई के सिवा कोई और चारा नहीं था। म्यांमार सरकार ने इन मुसलमानो पर देश के अंदर आंतकी गतिविधियाँ फ़ैलाने का आरोप लाया है।

भारत में 40000 से ज्यादा रोहिंग्या मुसलमान 

भारत में अनुमान के मुताबिक म्यांमार और बांग्लादेश से अवैध रूप से आने वाले रोहिंग्या मुसलमानो की संख्या चालीस हजार से ज्यादा है सरकार को मिली जानकारी के अनुसार इन लोगो का आतंकी संगठनों के झांसे में आसानी से आने के आशंका है। ख़ुफ़िया एजेंसी के मुताबिक पास्कितान में बैठे आंतक के आका इन्हे अपने चुंगल में लेने की साजिश कर रहे है.

भारत के गृह राज्य मंत्री किरन रिजिजू ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के म्यांमार दौरे से पहले घोषणा की थी कि भारत रोहिंग्या मुसलमानो को भारत से निर्वासित करेगा। 

Labels:

Sunday, 17 September 2017

देश के सबसे बड़े सिपाही "मार्शल अर्जन सिंह " को पीएम मोदी ने दी श्रद्धांजलि, सोमवार को होगा अंतिम संस्कार



भारतीय वायुसेना के मार्शल अर्जन सिंह का शनिवार को निधन हो गया. वह 98 वर्ष के थे। अर्जन सिंह को शनिवार सुबह सेना के रिसर्च एंड रेफरल अस्पताल में भर्ती कराया गया था। दिल का दौरा पड़ने के बाद उन्हें अस्पताल लाया गया था। 

अर्जन सिंह को जब वायुसेना प्रमुख बनाया गया था तब वो महज 44 साल के थे। और आजादी के बाद पहली बार लड़ाई में उतरी वायुसेना की कमान अर्जन सिंह के हाथ में ही थी। 

आपको बता दे की सोमवार के दिन मार्शल अर्जन सिंह के सम्मान में राजधानी की सभी सरकारी इमारतों पर लगा राष्ट्रीय ध्वज आधा झुका दिया जाएगा गृहमंत्रालय के प्रवक्ता ने यह जानकारी दी। 

वैसे तो मार्शल अर्जन सिंह के बारे में जितना लिखा जाय उतना कम होगा पर फिर भी हम अपने पढ़ने वालो को उनके बारे में कुछ बाते बताना चाहेंगे जिस पढ़कर अगर आप के अंदर भी जोश न भर जाए तो कहियेगा। 

19 साल की उम्र में पायलट ट्रेनिंग के लिए चयन 




मार्शल अर्जन सिंह का जन्म 15 अप्रैल 1919 को पंजाब के लायलपुर (जो अब फैसलाबाद, पाकिस्तान में है ) हुआ था। उन्होंने अपनी शिक्षा पाकिस्तान के मोंटगोमरी से पूरी की थी। अर्जन सिंह महज 19 साल की उम्र में पायलट ट्रेनिंग कोर्स के लिए चुने गए थे। मार्शल अर्जन सिंह का जन्म एक सैनिक परिवार में हुआ था उनके पिता रिसालदार थे वो एक डिवीज़न कमांडर के एडीसी के रूप में सेवा प्रदान करते थे। 

1944 में स्क्वॉड्रन लीडर बनाया गया उन्होंने अराकान कैम्पेन के दौरान जपानियों के खिलाफ टीम का नेतृत्व किया। आजादी के बाद 15 अगस्त 1947 को अर्जन सिंह को दिल्ली के लाल किला के ऊपर से 100 IAF एयरक्राफ्ट के फ्लाई पास्ट का नेतृत्व करने का मौका मिला। 

1949 में उन्होंने एयर ऑफीसर कमांडिंग ऑफ़ ऑपरेशनल कमांड का जिम्मा संभाला। इसे ही बाद में वेस्टर्न एयर कमांड कहा गया। 

1965 में जब पहली बार वायुसेना ने जंग में हिस्सा लिया तो अर्जन सिंह ही वायुसेना प्रमुख थे। उनके नेतृत्व में ही वायुसेना ने महज 26 मिनट में ही पाकिस्तानी फौज पर  हमला बोला था। 

अर्जन सिंह को 2002 में वायुसेना का पहला और इकलौता मार्शल बनाया गया वो वायुसेना के पहले 5 स्टार रैंक अधिकारी बने।  1965 की जंग में उनके योगदान के लिए भारत सरकार ने उन्हें इस सम्मान से नवाजा। 

1965 में ही उन्हें पदम् विभूषण से भी सम्मानित किया गया. उन्होंने भारतीय वायुसेना को सशक्त बनाने में अहम् भूमिका अदा की और विश्व की चौथी सबसे बड़ी वायुसेना बनाया। 

सिंह ने दिल्ली के पास अपने फार्म को बेचकर 2 करोड़ रूपए ट्रस्ट को दिए जो सेवानिवृत वायुसेना कर्मियों के कल्याण के लिए बनाया गया था अर्जन सिंह दिसंबर 1989 से दिसंबर 1990 तक दिल्ली उपराज्यपाल भी रहे। 





Labels:

Thursday, 14 September 2017

क्या बिटकॉइन एक पौंजी और फ्रॉड प्लान के तहत ख़रीदा और बेचा जा रहा है आखिर क्यों भारतीय बैंक (आरबीआई ) ने इसे अभी तक लागू नहीं किया?



अंतरराष्ट्रीय बैंकिंग और फाइनेंसियल सेवा देने वाले एक नामी बैंक और  कंपनी JP Morgan CEO Jamie Dimon ने कहां है कि Cryptocurrency बिटकॉइन को फ्रॉड करार दिया है. उन्होंने कहा है कि यदि कोई मेरे बैंक का कर्मचारी बिटकॉइन की खरीद - फरोख्त  करते पाया गया तो मैं उसे उसी समय हटा दूँगा | ऐसा कहने के पीछे मेरे पास दो कारण है एक तो हमारे बैंक के नियमो के खिलाफ है और दूसरा वह इंसान बेवकूफ है | और ऐसे बेवकूफ इंसान को बैंक में रखना हमारे लिए घातक हो सकता है. डिमोन ने ये विचार एक इन्वेस्टर कांफ्रेंस में व्यक्त किये. 

डिमोन ने यह भी कहा की क्रिप्टोकररेन्सी का अंत अच्छा नही होगा | डिमोन के अनुसार बिटकॉइन एक फ्रॉड एंड पोंज़ी स्कीम का बुलबुला है जो कभी भी फुट सकता है यदि आप वेनेजुएला, इक्वाडोर या उत्तर कोरिया में है या कोई ड्रग्स माफिया या कोई आपराधिक कार्य में शामिल है तो आप बिटकॉइन ले सकते है पर ये कुछ सिमित ही होगा | 

डिमोन कि इस स्टेटमेंट के बाद बिटकॉइन रेट ?

जैसे ही डिमोन ने अपने विचार व्यक्त किये उसके कुछ समय बाद से ही बिटकॉइन के रेट बहुत तेजी से गिरे है ये आर्टिकल लिखने तक लगभग 4000 डॉलर से 3456 डॉलर पर आ गया और अभी भी बिटकॉइन रेट में गिरावट जारी है | 

2017 में 4 गुना बढ़ी बिटकॉइन कीमत 

इस साल बिटकॉइन की कीमत 4 गुना से ज्यादा बढ़ी और उसके बाद ये बहस शुरु हो गयी की ये कोई बुलबुला तो नहीं | सितम्बर महीने में बिटकॉइन की कीमत 5000 डॉलर को पार कर गयी थी |  परन्तु जैसे ही डिमोन ने अपने विचार व्यक्त किये उसके बाद लगातार बिटकॉइन रेट गिरते जा रहे है अभी तक लगभग 14 % रेट गिर चुके है | 

आखिर क्यों भारतीय बैंक (आरबीआई ) ने इसे अभी तक लागू नहीं किया?

भारतीय रिज़र्व बैंक बिटकॉइन को लेकर सहज नहीं है आरबीआई के डायरेक्टर सुदर्सन सेन ने यह जानकारी दी की भारतीय रिज़र्व बैंक अपनी क्रिप्टोकररेन्सी ला सकता है | उन्होंने कहा असली तस्वीर उसी समय साफ़ होगी जब आरबीआई डिजिटल करेंसी जारी करना सुरु करेगा। जिसे आप फिजिकल करेंसी होने की स्थिति में साइबर स्पेस में रख सकेंगे। रिजर्व बैंक द्वारा गठित समूह क्रिप्टोकरेंसी को वैधानिक मान्यता देने के मसले पर मंथन कर रहा है। केंद्रीय बैंक को क्रिप्टोकरेंसी से किसी तरह की कोई आपत्ति नहीं है। लेकिन वह बिटकॉइन को लेकर खासा चिंतित है क्योंकि इन करेंसी को लेकर दुनियाभर में रेगुलेटरी जांच चल रही है।' भारत में इस बारे में संसद तक में सवाल उठ चुका है और सरकार ने इस बारे में कदम उठाने की बात कही है। 





Labels: ,

4 महीने में केंद्र और राज्य सरकारें एक्साइज ड्यूटी के तौर पर 1.13 लाख करोड़ रुपए आम जनता से वसूल चुकी है। और तेल कंपनियां 17.5 हजार करोड़ रुपए।

4 महीने में केंद्र और राज्य सरकारें एक्साइज ड्यूटी के तौर पर 1.13 लाख करोड़ रुपए आम जनता से वसूल चुकी है। और तेल कंपनियां 17.5 हजार करोड़ रुपए।





यहां जनता के बीच संदेह है कि उन्हें कच्चे तेल कीमत में गिरावट का पूर्ण लाभ नहीं मिल रहा है। संख्याओं पर एक नज़र बताता है कि यह वास्तव में सच हो सकता है। फरवरी 2016 में कच्चे तेल की भारतीय टोकरी की कीमत 30.53 डॉलर प्रति बैरल पर थी। पिछली बार जनवरी में कीमत 30 डॉलर थी, फरवरी 2016 में पेट्रोल के दाम में चार महानगरों में 59-66.05 रुपये प्रति लीटर की वृद्धि हुई थी। देश में जबकि डीजल की कीमत 44-52 रुपये प्रति लीटर थी। हालांकि, जनवरी 2004 में, पेट्रोल की कीमत 33.7-38.83 प्रति लीटर और डीजल 21.73-27.43 प्रति लीटर की रेंज में थी। संक्षेप में, यद्यपि वर्तमान कच्चे तेल की कीमतें लगभग जनवरी 2004 के स्तर पर हैं, अब हम जो भुगतान करते हैं, पेट्रोल और डीजल की कीमतों में कीमतें दोगुनी होती हैं, जो हमने चुकाई थी। इसलिए, यह सोचने का एक कारण है कि सरकार और तेल कंपनियों द्वारा उपभोक्ताओं को कम-बदलाव किया जा रहा है।

सिर्फ 4 महीने में सरकार ने 1.15 लाख करोड़ वसूले, मुंबई में पेट्रोल 80 रुपए लीटर हुआ; 3 साल में सबसे ज्यादा सरकार और कंपनियां लागत से ढाई गुनी कीमत वसूल रहीं.

4 महीने पहले शुरू हुआ था रोज दर तय होना, इस दौरान 5 रुपए तक बढ़ गई पेट्रोल की कीमत
नई दिल्ली | पेट्रोल-डीजलकी कीमत 3 साल के उच्चतम स्तर पर पहुंच चुकी है। बुधवार को मुंबई में पेट्रोल 79.48 रु. और दिल्ली में 70.38 रु. प्रति लीटर बिका। इससे पहले एक अगस्त 2014 को मुंबई में पेट्रोल की कीमत 80.60 रुपए और दिल्ली में 72.51 रुपए रही थी। इस साल 16 जून से पेट्रोल-डीजल के दाम रोज तय हो रहे हैं। तब से पेट्रोल 7.48% और डीजल 7.76% महंगे हो चुके हैं। पर सरकार का कहना है कि वह इसमें दखल नहीं देगी।
पेट्रोलियममंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने कहा कि 'सरकार दाम तय करने के तरीके नहीं बदलेगी। समय गया है कि जीएसटी काउंसिल पेट्रोलियम उत्पादों को भी जीएसटी के दायरे में लाने पर विचार करे।' प्रधान ने कहा कि 'टैक्स कम करने का फैसला वित्त मंत्रालय ही कर सकता है।' 4 महीने में केंद्र और राज्य सरकारें एक्साइज ड्यूटी के तौर पर 1.13 लाख करोड़ रुपए वसूल चुकी है। और तेल कंपनियां 17.5 हजार करोड़ रुपए।





कच्चा तेल: 3 साल में 46% सस्ता हुआ
अगस्त2014 में क्रूड 6291.91 रु. बैरल था, जो अब घटकर 3392.90 रु. हो चुका है। यह तब से 46 फीसदी कम है।
लेकिन सरकार... पेट्रोल पर एक्साइज ड्यूटी 126% और डीजल पर 387% तक बढ़ा चुकी है
{पेट्रोल: अगस्त2014 में एक्साइज ड्यूटी 9.48 रु. थी। अब 21.48 रु. प्रति लीटर है। यानी 126% की बढ़त हुई है।
{डीजल:अगस्त2014 में 3.56 रुपए थी। अब 17.33 रु. प्रति लीटर है। यानी इसमें 387% का इजाफा हो चुका है।
(आंकड़े रुपए प्रति लीटर में)
फायदा: 26.65 रु. के पेट्रोल पर 36.44 रु. टैक्स, 7.29 रु. मार्जिन
                          पेट्राेल     -   डीजल
कंपनीकी लागत  - 26.65   -   26.00
कंपनी का मार्जिन - 4.05    -   4.54
डीलर को बेचा -  30.70      -  30.54
एक्साइज ड्यूटी  - 21.48    -   17.33
डीलर का मार्जिन - 3.24 -      2.18
वैट (दिल्ली) - 14.96        -     8.67
खुदरा कीमत - 70.38      -     58.72

यही है अच्छे दिन जिनका आपको इंतज़ार था ?

Download Flipkart App & Get Discount - http://fkrt.it/W5rPN!NNNN



Labels: ,